Categories
प्रदेश

लखनऊ के बाद अब इस शहर में भी चला योगी सरकार का हंटर, उपद्रवियों से होगी यहां पर भी वसूली

कानपुर। नागरिकता संशोधन अधिनियम कानून का पूरे देश में जमकर विरोध हुआ।
उत्तर प्रदेश में लखनऊ सहित कई स्थानों पर आगजनी व सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान भी पहुंचाया गया।
नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में कानपुर मे
21 दिसंबर को यतीम खाना चौराहे से शुरु हुआ प्रदर्शन हिंसा मे तब्दील हुआ।
उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव किया और
दुकानों और कई वाहनो मे तोङफोड़ की।
यहां तक की यातीमखाना चौकी को भी आग के हवाले कर दिया
और वहां खड़े वाहनों को भी। मामले में प्रशासन ने मुकदमे लिख कर दबिश की शुरुआत की।

कइयों की गिरफ्तारियां भी हुई। यहां तक की प्रदर्शन करने वाले प्रदर्शनकारियों के पोस्टर लगाये गये। अब बेकनगंज हिंसा मे शामिल 21 उपद्रवियों से 2.83 लाख रुपये की वसूली की जाएगी। एडीएम सिटी विवेक कुमार श्रीवास्तव ने क्षतिपूर्ति वसूले आदेश दिये हैं।

बादाम में भरे हैं जीवन दायक गुण, जानें सुबह खाने के फायदे

दरअसल जिला प्रशासन ने वीडियो फोटोग्राफी के माध्यम से उन उपद्रवियों को चिन्हित किया, जो प्रदर्शन मे शामिल थे। जिन्होने तोड़फोड़ और आगजनी करते हुए सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था। प्रदेश सरकार ने संपत्ति के नुकसान की भरपाई विरोध प्रदर्शन मे शामिल उपद्रवियों से वसूलने के आदेश दिये थे।

प्रशासन ने एक नोटिस वापस ली

इस पूरे मामले पर एडीएम सिटी विवेक कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि 22 लोगों को बेकनगंज उपद्रव के मामले मे चिन्हित किया गया था। जिसमें उनकी कोर्ट मे आरोपित साहिबे आलम पर वहां उपस्थित होने और उपद्रवी होने के साक्ष्य नही मिले। जिसके बाद से उनको भेजा गया नोटिस वापस ले लिये गया था। शेष 21 उपद्रवियों से 2.83 लाख रुपये वसूला जायेगा।

इन्हें मिला नोटिस

जिन्हें नोटिस मिला उनके नाम इस प्रकार है।
यासीम- मुरारी लाल का हाता बेकनगंज, मोहम्मद मुस्तफा, मोहम्मद उस्मान-राजबिहार निवासी नदीम-कर्नलगंज, मोहम्मद साहिल-सदभावना चौकी बेकनगंज, आकिल अली-इब्राहिम का हाता, गुरमट-बेकनगंज, आसिफ-अनवरगंज, इलू भारती-बेकन गंज, अफजल-ग्वालटोली, रिहान डी- बजरिया, गुड्डू-गम्मूखां का हाता कर्नलगंज, आमिर-बेकनगंज, अदनान-बजरिया, अस्सलान-बेकनगंज, दिलशाद-हीरामन
का पुरवा, जावेद-दूधवाला बेकनगंज, बब्बू-अनवरगंज, शाबिर-अनवरगंज, लियाकत-रेडीमेड मार्केट अनवरंगज।

इन सभी को विवेक कुमार श्रीवास्तव की कोर्ट से


नोटिस सर्व किया गया है।
जानकारी के अनुसार कुछ अपने पतों पर नहीं हैं तो कुछ अधिवक्ताओं और नेताओं की शऱण में हैं।
इन सभी को नोटिस की सूचना मिलने के बाद से इनके बीच हड़कंप मचा है।