Categories
खबरें विदेश

यूक्रेन पर रूसी हमले तेज आज का दिन अहम, रुसी सेना ने किया बड़ा दावा

रूस के यूक्रेन पर हमला करने से अमेरिका रूस के बीच उपजे
तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडेन ने कहा है कि
शरणार्थियों को अमेरिका पनाह देगा।  

यह भी पढें:-VIDEO: तृतीय विश्‍व युद्ध का आगाज: रूस ने यूक्रेन पर शुरु किए मिसाइल से हमले   

आपको बता दें कि ताजा रूस के हमले में 137 नागरिकों की मौत हुई है।
रूस ने दक्षिणपूर्वी में बैलेस्टिक मिसाइलों से हमला किया है।  
कई चौकियों को उड़ाने का किया दावा किया है।

यूक्रेन के आम नागरिक बने सैनिक

रूस से युद्ध के बीच सेना ने आम नागरिकों को भी सैनिक बना दिया है।
सेना ने आम नागरिकों को 10 हजार असॉल्ट राइफल दीं है।
रूसी हमले से भयंकर तबाही हुई है।

बीती रात से रूस ने यूक्रेन पर जोरदार हमला चालू कर दिया है।
रूस के मिसाइल हमले से पूरे देश में चारों तरफ तबाही का मंजर है।
एक न्यूज एजेंसी ने राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के हवाले से
कहा है कि रूसी हमले में 137 लोगों की मौत हो गई।

यह भी पढें:-इन आसान घरेलू उपायों से लिवर को रखें सदैव स्‍वस्‍थ

गुरुवार की सुबह यूक्रेन पर रूसी हमले के साथ राजधानी
कीव, खार्कीव, निप्रो, ओडेसा व
कई अन्य शहर जोरदार धमाकों से थर्रा उठे।
रूस हवाई हमलों के साथ-साथ जमीनी गोलाबारी भी कर रहा है।
यूक्रेन ने कहा कि उसके सैन्य कमान केंद्रों, वायुसेना के अड्डों और
सैन्य भंडार पर मिसाइलों से हमले किये गये।

यूक्रेन में फंसे भारत के छात्र

यूक्रेन की घटना से हर वो भारतीय परिवार चिंतित हैं,
जिनके नाते रिश्तेदार
और बच्चे वहां फंसे हुए हैं। इनमें जमशेदपुर के
करीब 90 विद्यार्थी और गोण्‍डा के
पांच विद्यार्थी भी शामिल हैं।
लड़ाई छिड़ने के बाद वहां हवाई सेवा रद्द कर दी गयी है।
वहां रह रहे लोगों ने बताया कि, आसमान में धुआं का गुबार किसी
अनहोनी के संकेत दे रहे है।

यह भी पढें:-आज से पहले कामाख्या देवी मंदिर के इस रहस्‍य को नहीं जानते होंगे आप

उन्हें बंकर में सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है।
अस्पतालों में मरीजों को छुट्टी दे दी गयी है।
साथ ही खाने-पीने की सामग्री भी दी गयी है।
वे खुद खाना बनाकर बंकर में रह रहे हैं।

यूक्रेन में नहीं बंद होगा भारतीय दूतावास

यूक्रेन में भारतीय राजदूत ने कहा है कि कीव में इंडियन एम्बेसी बंद नहीं होगी।
यह पहले की तरह काम करती रहेगी।
वहीं, विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा- विदेश मंत्रालय यूक्रेन से
छात्रों सहित लगभग 18,000 भारतीयों को वापस लाने के लिए कदम उठा रहा है।
यूक्रेन में हवाई क्षेत्र बंद है इसलिए भारतीय नागरिकों को निकालने के
लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

यह भी पढें:-घरेलू उपाय : जड़ से खत्‍म होगी ब्‍लड शुगर, जानें क्‍या हैं उपाय

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमिर जेलेंस्की ने दो अहम ऐलान किए हैं।
पहला- यूक्रेन अब रूस के साथ किसी तरह के डिप्लोमैटिक रिलेशन नहीं रखेगा।
दूसरा- यूक्रेन के नागरिकों को जंग में हिस्सा लेना चाहिए।
सरकार उनको हथियार मुहैया कराएगी।
रूसी सेना ने दावा किया है कि यूक्रेन के सैनिक
अहम बंकरों और बेस को छोड़कर भाग खड़े हुए हैं और इन पर
अब रूस का कब्जा है।
कुछ मिलिट्री बेस भी रूसी सैनिकों ने हथिया लिए हैं।

रूस की सेना का दाव

रूसी रक्षा मंत्रालय ने हमला शुरू होने के 12 घंटे बाद देर शाम
बयान जारी कर दिनभर की अपडेट दी।
कहा- हवाई हमलों में यूक्रेन के 74 सैन्य ठिकानों को तबाह किया गया।
इनमें 11 एयरफील्ड, तीन कमांड सेंटर, एक नेवी पोस्ट, 18 एस-300 रडार और
बुक एयर डिफेंस सिस्टम शामिल हैं।
एक अटैक हेलीकॉप्टर और चार स्ट्राइक ड्रोन भी मार गिराए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.