एसपी से लगाई मदद की गुहार

249
newyearwish

ब्यूरो -श्रीनिवास सिंह मोनू

बंथरा/ लखनऊ। हमारे देश में न्यायपालिका एक सर्वोच्च संस्था है जिसके समक्ष यदि कोई मामला होता है तो फिर उस मामले में दूसरी संस्थाओं का कोई दखल नहीं रह जाता बशर्ते कि जब तक मामले में कोई फैसला ना हो जाए।
बावजूद बंथरा पुलिस को कोई फर्क नहीं पड़ता वह तो बस ताकतवर व मजबूत पक्षधर का पक्ष लेते हुए एक तरफा फैसला मनवाने पर अमादा होती है।

मामला कस्बे का ही है जहां के कौशल्या प्लाजा निवासी सुरेश कुमार भल्ला पुत्र सीताराम भल्ला ने स्थानीय थाना पुलिस से परेशान होकर एसपी से मदद की गुहार लगाई है। उनके अनुसार वह जिस मकान में रहते हैं वहां पर वह पिछले 15 वर्षों से रह रहे हैं जबकि जुलाई माह में उनके भाई नरेश भल्ला पुत्र सीताराम भल्ला व बहन बीना सिक्का रश्मि जलोटा रानू डोगरा व कंचन भल्ला द्वारा जबरन उनको घर से निकालने की कोशिश की गई। जिसके खिलाफ उसने माननीय सिविल जज लखनऊ के न्यायालय में एक मुकदमा दाखिल किया था जिसकी सुनवाई इसी महीने की 5 तारीख को हुई थी जिसमें दोनों पक्ष हाजिर भी हुए थे। बावजूद रविवार को स्थानीय थाना पुलिस से मिलीभगत करते हुए उक्त लोगों द्वारा प्रार्थी के घर पर चढ़ाई करते हुए गाली गलौज व घर छोड़ने को लेकर जान से मारने की धमकी भी दी गई।
जिसकी शिकायत जब उसने पुलिस में की तो वहां से भी कोई मदद नहीं मिली जिससे परेशान होकर सुरेश कुमार ने एसपी से उक्त मामले में मदद करने की गुहार लगाई है जिससे जब तक न्यायालय का फैसला ना आ जाए तब तक कोई कार्रवाई न की जाए ।