सांसद कौशल किशोर ने सदन में उठाया SC/ST के खाली पड़े पदों का मुद्दा

1385
newyearwish

नई दिल्ली। दिनांक 29 जुलाई 2019 को मोहनलाल गंज लोकसभा से सांसद व उत्तर प्रदेश भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष माननीय सांसद कौशल किशोर ने संसद में केंद्र व राज्य सरकारों में अनुसूचित जाति व जनजाति के खाली पड़े पदों का मुद्दा शून्यकाल में उठाया।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय सरकारी विभागों में स्वायत्तशासी सरकारी संस्थाओं में व अर्ध सरकारी विभागों तथा राज्य स्तरीय सरकारी विभागों में भारी संख्या में एससी-एसटी बैकलॉग में कई वर्षों से खाली पड़े पदों की भर्ती न होने के कारण एससी-एसटी वर्ग के लोगों में निराशा पैदा हो रही है। एससी एसटी वर्ग के मेधावी युवा बेरोजगारी के कारण मारे मारे घूम रहे हैं यदि इन खाली पड़े बैकलाग के पदों को एससी एसटी के लोगों द्वारा भर दिया जाए तो लाखों परिवारों को रोजगार मिल जाएगा और सरकार के प्रति एससी-एसटी वर्ग के लोगों का भी विश्वास बढ़ेगा और रोजगार भी, इस संबंध में विभिन्न मंत्रालयों में एससी एसटी बैकलॉक के संबंध में दिनांक 24 जुलाई को मेरे द्वारा पूछे गए तारांकित प्रश्न संख्या 5106  के उत्तर में बताया गया कि मंत्रालयों विभागों की रिक्तियों का अध्ययन करने के बाद ऐसे कारकों को दूर करने और विशेष भर्ती अभियान द्वारा इन खाली पड़े बैकलॉग को भरने के लिए एक आंतरिक समिति का गठन किया जाए अध्यक्ष महोदय यह आवश्यक है कि जो एससी एसटी के लोग क्वालीफाई नहीं करते हैं उन्हें कुछ शर्तों के आधार पर कंडीशनल भर्ती किया जा सकता है तभी इन शिकायतों विषमताओं को दूर किया जा सकता है, साथ ही 70 वर्षों के बाद भी ग्रुप ए के अधिकारियों के पदों को इस नियम के आधार पर वरीयता नहीं दी जाती है उन्हें भी अनुभव के आधार पर वरीयता देकर बड़े पदों की विषमताओं को दूर किया जा सकता है। अतः महोदय आपके माध्यम से आग्रह है कि केंद्र सरकार अपने सरकारी विभागों में व प्रदेश सरकारों को अपने सरकारी व अर्ध सरकारी विभागों में एससी-एसटी बैकलाग के खाली पड़े पदों को तत्काल भरने के आदेश निर्गत करने के लिए संसद में कानून बनाने के लिए विधेयक लाने का कष्ट करें जिससे इन विषमताओं को समय सीमा के अंतर्गत दूर किया जा सके।