सब इंस्पेक्टर अनूप मिश्रा अपूर्व यू पी आइकॉन अवॉर्ड से हुए सम्मानित

193
newyearwish

रिपोर्ट-मोनू सिंह

लखनऊ । पुलिस की ड्यूटी बाखूबी निभाने के साथ – साथ समाज सेवा का जज़्बा लिये सब इंस्पेक्टर अनूप कुमार मिश्रा अपूर्व कच्ची बस्तियों और गाँव में रहने वाले कमजोर वर्ग के जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा की राह में आगे बढ़ाकर उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिये पिछले कयी वर्षों से निरंतर प्रयास कर रहे हैं । राजधानी स्थित पी ए सी मुख्यालय में तैनात अनूप मिश्रा अपूर्व को पुलिस सेवा से जुड़े कर्तव्यों को बाखूबी निभाने और अभावग्रस्त बच्चों के लिये बेहतर सरोकार करने के लिये एक पहल वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा यू पी आइकॉन अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया है। उन्हें ये सम्मान राजधानी के एक भव्य होटल में आयोजित हुए सम्मान समारोह में प्रदान किया गया ।
उत्तर प्रदेश पुलिस के सब इंस्पेक्टर अनूप मिश्रा अपूर्व मलिन बस्तियों और गाँव के अभावग्रस्त व जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा की राह से जोड़ने की मुहिम पिछले 25 वर्षों से चला रहे हैं साथ ही साथ मोटिवेशनल स्पीकर के रूप में बच्चों युवाओं का मार्गदर्शन करते हैं। खाकी वर्दी वाला द्रोणाचार्य खिताब से मशहूर अनूप कुमार मिश्रा अपूर्व ने अभी तक कच्ची बस्तियों और गाँव में रहने वाले कमजोर वर्ग के बच्चों के लिये जगह जगह बाल चौपाल और द स्ट्रीट क्लास द्वारा जारूकता अभियान आयोजित करके 2 लाख से अधिक बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरूक किया है और 5 हजार से अधिक बच्चों का प्रेरित करके स्कूल में उनका एडमीशन करवाया है । प्रधानमंत्री भारत सरकार नरेंद मोदी जी द्वारा शुरू किये गये बेटी पढ़ाओ अभियान को सार्थक करने के उद्देश्य से अनूप मिश्रा ने 5 बेटियों को शैक्षिक अंगीकार किया हुआ है और लड़कियों को शिक्षित करने के लिये उनके पैरेंट्स को जागरूक करते हैं ।
अनूप डयूटी के बाद इन बच्चों को पढ़ाते हैं और अपने वेतन से स्टेशनरी आदि की व्यवस्था करते हैं ।अनूप मिश्रा अपूर्व द्वारा लखनऊ के सरोजिनी नगर क्षेत्र के सरैया , दादुपुर , पहाड़पुर , अलीनगर खुर्द आदि गाँवोंं के सरकारी स्कूलों में बच्चों के बैठने के लिये कुर्सी , मेज , डेस्क , ब्लैक बोर्ड , खेल सामग्री की व्यवस्था की गयी है । बच्चों के शैक्षिक , मानसिक और शारीरिक विकास के लिये कयी प्रतियोगिता आयोजित की जाती हैं । अनूप मिश्रा कई संस्थाओं के सहयोग से ग्रामीण परिवेश में रहने वाली महिलाओं और लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से सिलाई , बुनाई , कुकिंग आदि के निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित करवाते हैं । अनूप मिश्रा बच्चों का मार्गदर्शन करने के लिये मोटिवेशनल स्पीच देते हैं । सब इंस्पेक्टर अनूप मिश्रा डयूटी के बाद सामाजिक सरोकार की नयी इबारत लिखने के लिये जाने जाते हैं अभावग्रस्त और जरूरतमंद बच्चों को पढ़ाने के साथ ही उनका स्कूल में दाखिला भी करवाते हैं ।अनूप ने अपने अभियान का नाम द स्ट्रीट क्लासेस दिया है , इस क्लास में आने वाले बच्चों को स्कूल बैग , कॉपी , पेंसिल आदि दिया जाता है । समय मिलने पर अनूप सरकारी स्कूल और गाँव में जाकर बच्चों के लिये विभन्न शिक्षाप्रद और खेल से जुड़ी गतिविधियों का आयोजन करते हैं । अनूप पर्यवावरण के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय कार्य कर रहे हैं , वृक्षसंरक्षण और जलसंरक्षण के प्रति वे लोगों को जागरूक करते हैं । अनूप अपने सामाजिक सरोकार के जरिये पुलिस और समाज के बीच बेहतर समन्वय स्थापित कर रहे हैं और खाकी की शान को बढ़ा रहे हैं ।
यू पी आइकॉन अवार्ड समारोह एक पहल वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा होटल सेवी ग्रांड , गोमतीनगर , लखनऊ में आयोजित किया गया । जिसमे विभिन्न क्षेत्र से उत्कृष्ट कार्य करने वाली कई नामचीन शख्शियतों को सम्मानित किया गया।एक पहल वेलफेयर फाउंडेशन के चैयरमैन व कार्यक्रम आयोजक जुनैद हासमी के संयोजन में इस सम्मान समारोह में बाल चौपाल संरक्षक अनूप मिश्रा अपूर्व (सब इंस्पेक्टर ) , पदम् श्री डॉक्टर शादाब मोहम्मद , डॉ ओम प्रकाश वर्मा , डॉ राकेश श्रीवास्तव , डॉ नीलम बाला , डॉ तरुण कुमार तिवारी , डॉ पंकज त्रिपाठी , आलोक राजा (न्यूज़ एंकर ), हीना कुकरेजा ( न्यूज़ एंकर ) , सीमा मोदी , मीतू रस्तोगी , स्वरनाली भट्टाचार्य , सहर बानो , उत्कर्ष अग्रवाल , सिराज अहमद , आबाद अली , चित्रा जोहरी , सुरभि जैन , राजेश्वर पांडेय , अंजना सिंह सेंगर , किशन लाल शाह
मो0 जैद , अंशू बग्गा ,डॉ0 अनीता सहगल , जफर नकवी सहित कयी शख्शियतों को उनके द्वारा किये गये उल्लेखनीय और सराहनीय कार्य के लिये यू पी आइकॉन अवार्ड से सम्मानित किया गया ।
इस अवसर पर राजनैतिक , प्रशासनिक , समाजिक क्षेत्र की नामचीन हस्तियों के साथ साथ कई गणमान्य महानुभाव उपस्थित रहे ।