Chandrayaan-2 की लांचिंग आज, तैयारी पूरी, साउथ पोल पर उतरने का ये है बड़ा कारण  

182
newyearwish

नई दिल्ली। Chandrayaan-2 मिशन को आज इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (ISRO) लॉन्च करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
इससे पहले 15 जुलाई को यह मिशन कुछ तकनीकी खामी के वजह से टालना पड़ा था।
भारत का यह मिशन बेहद खास है और वैज्ञानिकों ने इसके लिए कड़ी मेहनत की है।
चंद्रयान-2 को आज दोपहर 2:43 पर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा।
चंद्रयान-2 को चांद तक पहुंचने में 40 दिन से ज्यादा का समय लगने वाला है।
इस मिशन के जरिए भारत चांद के साउथ पोलर रीजन में पहुंचना चाहता है।
बता दें कि चांद के इस क्षेत्र में इससे पहले कोई और देश नहीं पहुंच सका है।

चंद्रयान-2 को लॉन्च होते देखना सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात है।
इसीलिए इसरो ने ऐसी व्यवस्था की है दुनिया के हर कोने में बैठे भारतीय नागरिक इस लॉन्च को लाइव देख सकें।
तो आइए जानते हैं कि कैसे इस ऐतिहासिक पल को ऑनलाइन देखा जा सकता है।

लाइव देखें चंद्रयान-2 की यात्रा

श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर ने अपने व्यूअर्स गैलरी से इस मिशन के लॉन्च को लाइव देखने के लिए रजिस्ट्रेशन अब बंद हो चुके हैं।
हालांकि, आप लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए इस मिशन को कहीं भी देख सकते हैं, लेकिन शर्त यह है कि आपके पास अच्छी स्पीड वाला इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए।
इसरो चंद्रयान-2 के लॉन्च की लाइव स्ट्रीमिंग अपने ट्विटर और फेसबुक पेज पर केरगा।
इसके अलावा, दूरदर्शन पर भी इसे लाइव दिखाया जाएगा।
दूरदर्शन के यूट्यूब चैनल पर भी इसे लाइव देखा जा सकेगा।
दूरदर्शन पर लाइव स्ट्रीमिंग दोपहर 2 बजकर 10 मिनट पर शुरू होगी।

पहली बार होगी सॉफ्ट लैंडिंग

चंद्रयान-2, चंद्रयान-1 का फॉलो-अप मिशन है।
साल 2009 में हुए चंद्रयान-1 मिशन में चांद पर पानी की मौजूदगी का पता चला था।
चंद्रयान 2 मिशन में एक ऑर्बिटर, एक लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) शामिल है।
इसमें ऑर्बिटर का काम होगा कि वह 100 किलोमीटर की ऊंचाई से चांद की सतह की मैपिंग करे। वहीं विक्रम लैंडर चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कर प्रज्ञान रोवर को रिलीज करेगा।
इस मिशन के जरिए इसरो दुनिया को दिखाना चाहता है कि चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग की जा सकती है।
चंद्रयान-2 के जरिए वैज्ञानिक चांद की सतह की मैपिंग के साथ वहां के मिनरल और एलिमेंट साथ ही मूनक्वेक(चांद पर आने वाला भूकंप) के बारे में अधिक जानकारी जुटाना चाहते हैं।