अवैध रूप से गौवंशो को कंटेनर में ले जाने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे

235
newyearwish

                श्रीनिवास सिंह मोनू

लखनऊ : प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद गौ हत्या पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया व अवैध रूप से चल रहे बूचड़ खानों को पूर्णता प्रतिबंधित कर दिया गया। किंतु जैसे जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे अवैध रूप से गौवंश की तस्करी में लिप्त अवैध कारोबारियों का कारोबार भी चलने लगा। अब जो काम वह दिनदहाड़े नहीं कर सकते थे उसके लिए रात के अंधेरे का सहारा लिया जाने लगा व अब इस काम को चोरी छुपे अंजाम दिया जाने लगा। परिणाम स्वरूप गोवंशो की अवैध कटान पर कुछ हद तक रोक तो लगी किंतु सरकार की मंशा के अनुरूप पूर्ण रूप से पाबंदी नहीं लग पाई।

ताजा मामला राजधानी के थाना बंथरा स्थित हरौनी पुलिस चौकी का है जहां पर कटी बगिया मोहन मार्ग पर हरौनी क्रॉसिंग बंद होने की वजह से दोपहर करीब 11:00 बजे एक कंटेनर को पकड़ा गया जिसमें करीब 2 दर्जन से अधिक सांड़ बंद थे।IMG-20190411-WA0012

स्थानीय पुलिस ने कंटेनर व चालक और उपचालक को अपने कब्जे में ले लिया।
गुरुवार दोपहर 11:00 बजे कटी बगिया से मोहन मार्ग पर पड़ने वाली हरौनी का फाटक बंद होने की वजह से एक कंटेनर HR 55 न 0709 खड़ा था जिसके अंदर से आवाज आने पर राहगीरों ने इसको जानने का प्रयास किया किंतु जानकारी ना हो पाई इधर किसी अनहोनी की आशंका में इकट्ठा भीड़ ने आनन फानन में इसकी सूचना करीब ही स्थित हरौनी चौकी प्रभारी को दी। वहीं मौके पर भीड़ को इकट्ठा होते देख कंटेनर में चालक व उप चालक भागने की ताक में लगे रहे व पुलिस को आता देख सड़क के किनारे कंटेनर छोड़कर भाग निकले किंतु मौके पर ही हरौनी चौकी पुलिस बल ने उन्हें दौड़ा कर पकड़ लिया।

चौकी प्रभारी ओंकार नाथ यादव के अनुसार पकड़े गए युवकों ने पूछने पर अपना नाम इमरान व फुरकान बताया और यह भी बताया की इन गोवंश को आगरा से बिहार ले जाया जा रहा था। इधर पुलिस ने पकड़े गए जानवरों को बेती स्थित गौशाला में छोड़ दिया जिसमें कुल मिलाकर 25 जानवर पाए गए जिनमें से 3 बैलों की मौत हो गई थी जिनको वहीं पास में ही पोस्टमार्टम करने के बाद दफना दिया गया।
कंटेनर को पुलिस ने कब्जे में लेते हुए चालक व उप चालक के खिलाफ पशु तस्करी की धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए जेल भेज दिया।