पाकिस्तान से आर पार के मूड में पीएम मोदी

420
newyearwish

नई दिल्ली। पीएम मोदी पुलवामा में हुए हमले के बाद से काफी गंभीर हैं और पाकिस्तान के खिलाफ और भी ज्यादा सख्त एक्शन लेने के मूड में हैं. भारतीय सेना एलओसी पर पाक फ़ौज को जवाब तो दे ही रही है, साथ ही कश्मीर में आतंकियों को ठोकने में भी व्यस्त है. मगर अब एक ऐसी खबर सामने आ रही, जिसने पाकिस्तान आईएसआई में हड़कंप मचा दिया है, पाक सरकार भी मोदी के इस रूप को देख कर भयभीत हो गयी है और यूएन के पैरों पर जा गिरी है।

क्या है पूरा मामला?

विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक़ केवल एलओसी के पास बने लॉन्चपैड ही नहीं, इस बार पीएम मोदी पाकिस्तान का जड़मूल से सफाया करने के मूड में आ गए हैं. हाल ही में 20 से अधिक देशों के डिप्लोमेट्स को नई दिल्ली बुलाया गया था, ताकि कूटनीतिक ताकत का इस्तमाल करके पाकिस्तान के खिलाफ कुछ बड़ा किया जा सके।

विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक़, पीएम मोदी पाकिस्तान पर हमला करके देश के अंदर तक सेना घुसाकर सभी आतंकी कैम्पों को तबाह करने के मूड में हैं. आपको याद होगा कि पीएम मोदी कितना खफा हैं इस हमले से कि उन्होंने कई बार अपने भाषणों में कहा है कि जो आग हमारे दिलों में धधक रही है, वही आग उनके दिल में भी धधक रही है।

खबर के मुताबिक़ पीएम मोदी पाकिस्तान पर चौतरफा हमला बोलने की फिराक में हैं और पाक आईएसआई को ये बात पता भी है. यही कारण है कि पाकिस्तान ने यूएन में गुहार लगाई है कि बचा लो माईबाप वरना अबकी बार पाकिस्तान बचेगा नहीं, चार टुकड़े हो जाएंगे।

भारत ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला लेने और पाकिस्तान को सबक सिखाने का 360 डिग्री एक्शन प्लान तैयार कर लिया है. सरकार के उच्च सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ इस बार ऐसा बड़ा एक्शन होगा जो पाकिस्तान बनने के बाद से आजतक नहीं हुआ था. थलसेना, नौसेना और वायुसेना, तीनो ही स्टैंड बाय पर हैं।

खबर है कि पीएम मोदी ने 20 से ज्यादा देशों से बात की है और प्लान है कि सभी मिलकर चारों ओर से पाकिस्तान पर हमला बोल दें. ईरान भी पाकिस्तान के खिलाफ एक्शन लेने के मूड में है, अफगानिस्तान भी त्रस्त आ चुका है, भारत में पीएम मोदी अब गुस्से से उबल रहे हैं. ऐसे में तीनों तरफ से हमला किया जा सकता है।

मगर पाकिस्तान के घबराने की केवल इतनी सी वजह नहीं है, असल वजह है इजराइल, जिसका नाम आते ही मुस्लिम देशों के पसीने छूटने लगते हैं. इजराइल के पास दुनिया का सबसे ताकतवर खुफिया नेटवर्क है, उसकी खुफिया एजेंसी मोसाद दुनिया की सबसे जबरदस्त खुफिया एजेंसी के रूप में विख्यात है. और इजराइल ने पीएम मोदी का साथ देने का मन बना लिया है।

मोसाद जानती है कि पाकिस्तान फ़ौज ने एटम बम कितने बनाये हैं, कहाँ-कहाँ छिपाये हैं, कितने टैंक हैं, कितनी ताकतवर मिसाइलें हैं और कितने लड़ाकू विमान हैं. पाकिस्तान की क्या ताकत है और कहाँ-कहाँ है, इजराइल को सब पता है और इजराइल ने भारत का साथ देने का मन बना लिया है कि यदि भारत हमला करना चाहता है तो ना केवल खुफिया जानकारियां भारत को देगा बल्कि अत्याधुनिक हथियारों के जरिये भी भारत की मदद करेगा क्योकि पाकिस्तान के एटम बम के जरिये अन्य मुस्लिम देश भी कुछ ज्यादा ही उछलते हैं।

एक और अहम् बात ये है कि अमेरिका भी अपनी खुफिया एजेंसी सीआईए के जरिये भारत की मदद के लिए तैयार हो गया है, अन्य सभी बड़े देशों ने भी पीएम मोदी से कहा है कि वो भारत के साथ हैं. अमेरिका के साथ-साथ रूस जैसी एशिया की सबसे बड़ी ताकत भी भारत के साथ है. रूस ने कहा है कि आतंकवाद का सफाया करने के भारत के मिशन में रूस भी सहयोग करेगा।

पुलवामा में आतंक की कहानी लिखने वाले कमांडर कामरान गाज़ी को सुरक्षा बलों ने जन्नत की हूरें नसीब करवा दी लेकिन अभी ये शुरुआत है. मोदी सरकार में बड़े ओहदे पर बैठे सूत्र के मुताबिक अभी ‘बहुत बड़ा’ काम होना बाकी है. ये बड़ा काम 360 डिग्री यानी चारों तरफ से पाकिस्तान को घेरकर मारने का प्लान है. पीएम मोदी ने सेना, खुफिया एजेंसियो से बड़े हमले के प्लान तैयार करने और लागू करने के निर्देश दिए हैं।

आतंक को जड़ से खत्म करने का प्लान तैयार कर रही हैं खुफिया एजेंसियां

प्लान के मुताबिक जल, थल, नभ तीनों सेनाओं को अलर्ट रहने और एक्शन प्लान भेजने के लिए आदेश दिए गए हैं. सेना से तीन दिन पहले यानी 15 फरवरी को प्लान तैयार करने के लिए कहा गया था. सेना और खुफिया एजेंसियां इस बार आतंक को जड़ से खत्म करने का प्लान तैयार कर रही हैं।

आतंक के आकाओं और पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए कश्मीर में तैनात अफसरों से भी अलग-अलग प्लान मांगे गए हैं. इनपर रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय और पीएमओ से आखिरी प्लान पर सहमति के बाद कार्रवाई के आदेश दिए जाएंगे।

प्लान में जल, थल, नभ तीनों सेनाएं शामिल

सेना से 360 डिग्री प्लान मांगा गया है, इसमे तीनो सेनाएं यानी जल, थल, नभ तीनों शामिल है. पाकिस्तान और आतंक को सबक सिखाने के इस 360 डिग्री प्लान में देश के भीतर यानी कश्मीर, पाक अधिकृत कश्मीर और पाकिस्तान के दूसरे हिस्से शामिल होंगे. न तो भारत सरकार सेना का इस्तेमाल से गुरेज करेगी न जल और नभ का इस्तेमाल करने से गुरेज करेगी।

देश के भीतर यानी कश्मीर में 242 चिंहित आतंकियों सहित 350 के आसपास आतंकी सक्रिय हैं. सुरक्षा बल इन्हें जड़ सहित खत्म करने पर दिन-रात भिड़े हुए हैं. यानी कश्मीर घाटी को आतंकवादी विहीन करने का प्लान सबसे ऊपर है. यानी सरकार की टॉप प्रायॉरिटी आतंकियों का समूल नाश करना है।

जबकि देश के बाहर यानी पाक अधिकृत कश्मीर के अलावा पाकिस्तान के भीतर आतंकियों के कई ठिकानों को ध्यान में रख कर प्लान तैयार किये जा रहे हैं. सूत्रों ने इस प्लान का खुलासा करने से इनकार कर दिया लेकिन इशारों में बता दिया कि ‘बड़े ऑपरेशन’ की तैयारी है और इस ‘बड़े ऑपरेशन’ के लिए थल सेना, जल सेना और वायुसेना तीनो के उपयोग से भी भारत सरकार गुरेज नहीं करेगी।

यहाँ हम आपको बता दें कि हम खुद भी केवल उतनी ही जानकारी दे रहे हैं, जितनी देना सुरक्षित है. पूरा प्लान क्या है, कब इसे शुरू किया जाएगा, कैसे किया जाएगा, इसकी सम्पूर्ण जानकारी हम भी अभी नहीं दे सकते हैं।

भारतीय फौज के निशाने पर हैं आतंक के आका

पाकिस्तान में घबराहट इसलिए भी है क्योकि पाकिस्तान को पता चल गया है कि इजराइल इस लड़ाई में शामिल हो गया है. आतंक के आकाओं से लेकर पूरा पाकिस्तान भारतीय फौज के निशाने पर है. सूत्रों भी इंतज़ार करिए ‘कुछ बड़ा होने वाला है’ इसके आगे बताने से इनकार कर देते हैं. तो हम भारती न्यूज़ के पाठकों से भी आग्रह करते हैं कि थोड़ा इंतजार करिये और बस देखते जाइये कि इस बार क्या होता है।

जब हमें इस बारे में पता चला तो हमें भी लगा कि पीएम मोदी के इस बयान का क्या मतलब था कि पाकिस्तान ने बड़ी गलती कर दी है. आतंक के 360 डिग्री सफाई के इस प्लान के लागू करने के लिए कई देशों के साथ खुफिया सूचनाएं साझा की जा रही है. खुफिया सूचनाओं के इस तंत्र में अमेरिका की सीआईए और इज़राइल मोसाद जैसी ऐजेंसिया भी बढ़-चढ़ कर साझेदारी कर रही है।

यानी भारत सरकार के प्लान 360 डिग्री में दुनिया की दो बड़ी ताकतें भी सहयोग कर रही हैं. कहा जा रहा है कि तीनों ओर से घेरकर इस बार सेना को पाकिस्तान के अंदर घुसाकर एक-एक गली, कूंचे से आतंकवादियों और उनके आईएसआई के आकाओं, दाऊद, हाफिज सईद, मसूद अजहर जैसों को ठोकने की बड़ी योजना है।