Live : मैं देश हित और जन हित को गेस्ट हाउस कांड से ऊपर रखती हूं- मायावती

440
newyearwish

लखनऊ। शनिवार दोपहर लखनऊ के पांच सितारा होटल में बसपा सुप्रीमों मायावती व समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने एक संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस की।
मायावती ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जनहित को ध्यान में रखकर गठबंधन किया है।
SP-BSP गठबंधन से देश में उम्मीद जगी है।

उपचुनाव में कांग्रेस की जमानत जब्त हो गई थी। हम बीजेपी को सत्ता में वापस आने से रोकेंगे।
सपा-बसपा गठबंधन यूपी में बीजेपी को हराएगी।
मैं आपको बता दूं कि आजादी के बाद कांग्रेस लंबे समय तक केंद्र और राज्यों की सत्ता में काबिज रही।
तब भी भ्रष्टाचार और गरीबी लगातार बढ़ती रही।
केंद्र में बीजेपी रहे या कांग्रेस एक ही जैसे हालात होते हैं।

बीती बातें भुलाकर साथ

हम बीती बातें भुलाकर साथ आए हैं।
सपा-बसपा के गठबंधन ने जनता को एक नई उम्मीद दी है हम पिछड़ों, गरीबों और अल्पसंख्यकों की ताकत बनेंगे। बीजेपी ने जनता को धोखा देकर प्रदेश और केंद्र में सरकार बनाई है।
हमने बीजेपी को पहले ही उपचुनाव में हरा दिया है।
यह गरीबों, मजदूरों, कारोबारियों, युवाओं, महिलाओं, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों का गठबंधन है।

मायावती ने कहा कि 1993 में मुलायम सिंह यादव और कांशीराम ने एक साथ चुनाव लड़ा था।
लेकिन सभी को पता है कि नतीजा क्या हुआ।
कुछ गंभीर मुद्दों की वजह से वह गठबंधन चल नहीं सका।
लेकिन अब हम साथ आए है गठबंधन के लिए।
मैं देश हित और जन हित को गेस्ट हाउस कांड से ऊपर रखती हूं।
हम इतिहास दोहराएंगे।
यह आंबेडकर और लोहिया को मानने वालों का गठबंधन है।
यह जातिवादी और साम्प्रदायिक बीजेपी से अलग है।
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सपा-बसपा के गठबंधन का स्वागत किया।

लोकसभा चुनाव 2019 में लड़ने पर मायावती ने कहा कि समय आने पर आपको मालूम चल जाएगा।
कांग्रेस को बोफोर्स ने हराया था और बीजेपी को राफेल हराएगी।
कांग्रेस के दौर में देश में इमरजेंसी लागू कर दी गई थी,
बीजेपी के दौर में देश में अघोषित इमरजेंसी है।

कांग्रेस के साथ हमारा पिछला अनुभव ठीक नहीं रहा है,
इसका फायदा हमें वोटों में नहीं मिला था।

ऐसे में कांग्रेस को हमसे फायदा मिलता है।
लेकिन हमें नहीं मिलता हमारा वोट प्रतिशत भी घटड जाता है।
पिछले विधानसभा चुनाव में सपा की हार कांग्रेस से गठबंधन की वजह से हुई थी।

हम सपा के साथ खड़े हैं।
बीएसपी 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
सपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
2 सीटों को रिजर्व रखा गया है और अन्य दो अमेठी और रायबरेली हैं
जिन्हें हमने कांग्रेस के लिए छोड़ दिया हैः मायावती

सपा बसपा बीजेपी के कुशासन को खत्म करने के लिए साथ आए है।
मैं भाजपा के 5 साल में गरीब किसान महिलाओं पर अत्याचार हुआ है।
राम कृष्ण कि जन्मभूमि पर जितना अत्याचार किया है कि भगवान भी परेशान होंगे।
लोगों को जाति-धर्म के आधार पर बांटा जा रहा है।
भाजपा के लोग भगवान को भी जाति में बांट रहे हैं।
भाजपा सरकार व्यापारियों कि मदद कर रही है,
भाजपा के द्वारा किए जा रहे अन्याय का अंत होगा।
भाजपा के अहंकार के खत्म करने के लिए हमें एक साथ आना जरुरी था।
मायावती जी का शुक्रिया कि उन्होने बराबर कि सीटें दीं।
अपनी आदत के अनुसार भाजपा हमारे कार्यकर्ताओँ को लड़ा सकती है पर हमें इससे बचना है।
गठबंधन के लिए अखिलेश यादव ने मायावती का अभार व्‍यक्‍त किया।