नहीं थम रहा राजधानी लखनऊ में अपराधों का सिलसिला, दो सगे भाइयों की गोलीमारकर हत्‍या

408
newyearwish

लखनऊ। विवेक तिवारी हत्याकांड से सवालों के घेरे में आई लखनऊ
पुलिस को इस बार बेख़ौफ़ बदमाशों से चुनौती मिली है।
बुधवार रात राजधानी के ठाकुरगंज इलाके में बेख़ौफ़ बदमाशों ने दो
सगे भाइयों इमरान (20) व अरमान (18) को दौड़ा-दौड़कर लाठी
डंडों से पीटा और बाद में गोली से उड़ा दिया।
बताया जा रहा है कि करीब छह बदमाश मुसाहिबगंज की भीड़ भरी
बस्ती में दोनों को पीटते रहे लेकिन कोई बचाने के लिए आगे नहीं आया।

यह भी पढें:- बढीं योगी सरकार की मुश्किलें : सामूहिक अवकाश पर जाने की…

वारदात को थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया गया।
वारदात के बाद पुराने लखनऊ में तनाव को देखते हुए आठ थानों की पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।
सीसीटीवी खंगालने के साथ ही बदमाशों की तलाश की जा रही है।
दो लोगों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया है।
प्रभारी निरीक्षक अनजानी कुमार पांडेय ने बताया कि मृतकों के पिता दिलदार प्रॉपर्टी डीलर हैं।
इमरान कैब चालक है।
बुधवार की रात इमरान व अरमान अपने बीमार पिता को दवा देकर लौट रहे थे।
ठाकुरगंज चौराहे से चाय लेकर बंधा रोड की तरफ जा रहे थे।
तभी कार व बाइक सवार बदमाशों ने इमरान के कैब को ओवरटेक करके उन्हें रोका।
इस बीच बदमाशों और इमरान के बीच नोकझोंक हुई।

यह भी पढें:- जानिए खजुराहो मंदिर की कामुक मुर्तियों का चौंका देने वाला राज

कार के पीछे बैठा दोस्त निशांत जब तक कुछ समझता
दोनों भाई कैब से निकलकर भागे,
इसके बाद बदमाशों ने उन्हें लाठी डंडों से पीटा फिर गोली मार दी।
जिसके बाद इमरान और अरमान लहूलुहान होकर गिर पड़े।
उन्हें ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।

यह भी पढें:- पीएम मोदी का दोस्त रूस लेकर आ रहा सबसे बड़ी सौगात,…

दोहरे हत्याकांड से इलाके रोष फैलते देख चौक, वजीरगंज, सआदतगंज
समेत अन्य थानों की फोर्स बुला ली गई।
मामले में इमरान और अरमान के भाई रेहान की तरफ से
नामजद तहरीर दी गई है।
रेहान की तरफ से दर्ज कराई गई एफआईआर में साहिल उर्फ़ छोटू व
उसके साथी शिवम और चिन्ना के ऊपर आरोप लगाया गया है।
रेहान का आरोप है कि 10 दिन पहले साहिल की इमरान से कहा सुनी हुई थी।

जिसके बाद साहिल ने तीन दिन पहले ही पिता को दोनों
भाइयों को जान से मारने की धमकी दी गई थी।
मामले में पुलिस ने तीन नामजद और अज्ञात के खिलाफ
मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

यह भी पढें:- विवेक तिवारी के साथ गाडी में बैठी लड़की ने बताई सारी…

एसएसपी लखनऊ कलानिधि नैथानी ने बताया कि दोनों भाई कैब से जा रहे थे
तभी कार और बाइक सवार ने ओवरटेक कर उन्हें रोका और फिर पिटाई के बाद गोली मार दी।
उनका तीसरे साथी ने वारदात की सूचना दी।
जिसके बाद दोनों को ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।
आरोपियों के धरपकड़ के लिए टीमें रवाना हो गई हैं।
जानकारी मिल रही है कि पुराणी रंजीश में हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया है।
गोली लगने की पुष्टि नहीं हुई है।