जानबूझकर सरकार विरोधी काम रहे हैं कुछ पुलिसकर्मी : सांसद कौशल

136

लखनऊ। गत दिनों सीतापुर जिले के रामपुर कला थाने में हिरासत में दलित युवक की मौत के मामले में तीन दिन तक पीड़ित के घर वालों और पुलिस के बीच में खींचतान चलती रही। पुलिस आरोपी एसएचओ को बचाने में लगी थी मृतक के परिजन आरोपी एसएचओ के खिलाफ FIR को लेकर अंतिम संस्कार न करने पर अड़े थे।

तीन दिन बाद भारी जनाक्रोश को देखते हुए आरोपी एसएचओ के खिलाफ मुकदमा लिखने के बाद घर वालो ने अंतिम संस्कार किया।

आरोपी दरोगा के खिलाफ रामपुर कला थाने में 302 और एससी एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज हुआ। परंतु आरोपी की आज तक गिरफ्तारी नहीं हुई।

अभी यह रामपुर कला का मामला ठंडा नहीं हो पाया था कि सोमवार को लखनऊ से सटे हरदोई के बघौली थाना के अंतर्गत आने वाले गांव परनुवा का मामला सामने आया पीडित के परिजनों के मुताबिक मदनपाल पासी शनिवार को पुलिस ने एलबीडब्ल्यू में घर से गिरफ्तार किया। थाने में रात में उसे ऐसी थर्ड डिग्री दी गई कि उसे ब्रेन हेमरेज हो गया।

रविवार को दिन में पुलिस ने मदन पाल के घर वालों को बताया कि मदन पाल की मृत्यु हो चुकी है जिसका इलाज ट्रामा सेंटर में चल रहा है। जमीनी नेता के रूप में पहचाने जाने वाले मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर को पता चली तो वह स्वयं मौके पर पहुंचे सांसद कौशल किशोर के साथ में भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रिय मीडिया प्रभारी अनुसूचित मार्चा अवध के.के रघुवंशी क्षेत्रिय उपाध्‍यक्ष विकास किशोर आदि लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने पीड़ित मदनपाल के घरवालों से पीड़ित के बारे में पूरी जानकारी ली सांसद कौशल किशोर ने कहा कि प्रदेश के कुछ पुलिसकर्मी पूरी तरह निरंकुश से निरंकुश हो चुके हैं। कुछ पुलिस वर्तमान समय में सरकार को बदनाम करने के लिए एक सोची समझी रणनीति के तहत कार्य कर रही है। जानबूझकर ऐसी मानवता विरोधी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा ताकि सरकार की बदनामी हो, मैं जल्द ही मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी से मिलकर इस संबंध में बात करूंगा