ग्रामप्रधान व कोटेदार की मिली भगत से पात्रो को नहीं मिल रही मूलभूत सुविधायें

121

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों को आवास, शौचालय, राशन, की सुविधाएं मुहैया कराने का काम कर रही है।
क्या इन सुविधाओं का लाभ पात्रो को मिल रहा है।
आज भी बहुत बड़ा सवाल बना हुआ है।

जिम्‍मेदारों की उपेक्षा से बदहाल रहीमनगर पड़ियाना के महेन्द गांव का पंचायत भवन व…

WhatsApp Image 2018-08-30 at 12.19.35 PM

ताजा मामला सरोजनीनगर ब्लाक ग्राम सभा राहीमनगर पड़ियाना के
ग्राम गोड़वा में देखने को मिल रहा है।
बताते चले कि स्व केशन गौतम के चार पुत्र है।
चारो भाइयों के हिस्से में कुल 10 बिस्वा जमीन है।
लेकिन किसी को भी राशन नही मिल रहा है

रहिमनागर पाडियना के गोड़वा में समस्‍याओ का अंबार, अपात्रों को मिल रहा सरकारी योजनाओं…

बुद्धी लाल गौतम की आर्थिक स्थिति सोचनीय है।
लगभग दो साल पहले बीमारी के कारण उनकी पत्नी का देहांत हो गया था।
जिनके पाँच बच्चें है। बड़ी बेटी की शादी हो गयी है।
बुद्धी लाल गौतम अपनी दो बेटियों व दो बेटों के साथ दयनीय जिंदगी गुजरने को मजबूर है।
आज भी एक उम्मीद लगी है कि शायद कभी सरकार हम गरीबो पर भी मेहरबान हो जाए।

WhatsApp Image 2018-08-30 at 12.19.34 PM (1)

कमलेश गौतम ने बताया कि कई बार ग्राम प्रधान के पास आवास के लिए गए तो उन्होंने कहा कि तुम्हारे भाई को मिल चुका है इस लिए अभी तुमको नही मिलेगा।

सरोजनी नगर तहसील के लेखपाल ने किसान से ठगे 50 हजार, विडियो वायरल

कमलेश गौतम अपनी पत्नी कि एक बच्चे के साथ एक कच्चे कमरे में
जिंदगी गुजार रहे है।
उस कमरे की एक धन्नी टूटी है जो दूसरी बल्ली से सहारा दिया गया है।
आवास, शौचालय, राशन जैसी किसी सुविधा का लाभ  नही प्राप्त हो रहा है।

ग्रामप्रधान की लिखी राशन पर्ची को कोटेदार ने फाड़ा

कमलेश गौतम ने बताया कि राशन के लिए ग्रामप्रधान के पास दो बार गया उन्होंने पर्ची बना दी
जिसको लेकर राशन लेने गया तो कोटेदार ने पर्ची देख कर दोनों बार फाड़ दी कहा कि तुम्हारा राशन नही आता है।
अब राशन लेने यहाँ मत आना।
प्रदेश सरकार के अधिकारियों को गरीबों की सुध लेने की फुर्सत नही है।
सिर्फ कागज पर ही खानापूर्ति हो रही है।