शर्मनाक : बेटी का बाप करता रहा मिन्‍नतें मगर नहीं पसीजा पुलिस का दिल और फिर…

0
174

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में पुलिस की छवि में कोई सुधार नहीं हो रहा है।
कहने को मित्र पुलिस है मगर काम शत्रु वाला है।
बिजनौर में पुलिस का जो अमानवीय चेहरा सामने आया है
उससे पूरे सूबे की पुलिस को शर्मसार होना पड़ा रहा है।

कुप्रथा : यहां सुहागरात पर ऐसे जाँचा जाता दुल्हन कौमार्य, पास… 

शादी समारोह में मामूली से झगड़े में पुलिस दुल्हन के पिता को ही थाने ले
आयी और घंण्टो तक पुलिस हिरासत में लेकर शांति भंग में चालान कर दिया।
कन्यादान करने के लिए पिता से लेकर इलाके के लोगों ने छोड़ने की
पुलिस के सामने लाख कोशिश की लेकिन पत्थर दिल पुलिस का दिल नहीं
पसीजा और दुल्हन बिन कन्यादान के ही विदा हो गई।

बाप करता रहा मिन्नतें

अमीचन्द जिसकी बेटी की शादी यानी बारात चढ़त के दौरान शराबी युवक ने उत्पात मचा दिया था।
बड़ा कोई हादसा या झगड़ा न हो इसी बात को लेकर अमीचन्द ने पुलिस को फोन कर दिया।
मौके पर पहुंची पुलिस अपने साथ अमीचन्द को ही थाने ले आयी और उसे घंण्टो तक थाने में हिरासत में रखा।

अगर आपकी कुंडली में है मांगलिक दोष तो करें ये उपाय

अमीचंद पुलिस के सामने अपनी बेटी का कन्यादान करने की मिन्नते करता रहा,
लेकिन पत्थर दिल पुलिस का दिल नहीं पसीजा।
बल्कि अमीचन्द का शांतिभंग में भी चालान कर दिया।
आखिरकार दुल्हन के मामा ने कन्यादान की रस्म पूरी की और बिन पिता के बेटी घर से रुखसत हो गई।

बिना कन्यादान के विदा हुई बेटी

ये मामला बिजनौर के थाना बढ़ापुर के कुंजेटा इलाके का है।
ग्राम प्रधान पतराम सिंह के अनुसार,
यहां बारात चढ़त के दौरान कुछ हुड़ दंगाई हंगामा करने लगे।
इसी बाबत दुल्हन के पिता ने डायल 100 को फोन कर मौके पर बुला लिया।
लेकिन हंगामा काटने वालों पर तो पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की
बल्कि दुल्हन के पिता यानी अमीचंद को ही पुलिस उठाकर थाने ले आयी।

दिल्‍ली के बुराडी में 11 लाशों के मिलनें की शुरुआती रिपोर्ट…

लाख कोशिशों के बावजूद भी पुलिस ने बेटी का कन्यादान नहीं होने दिया
और ऐसे ही बेटी को रुख्सत करना पड़ा और इतना ही नहीं
पुलिस ने अमीचन्द के साथ मारपीट कर शांति भंग में चालान कर दिया।
इस संबंध में सीओ नगीना प्रवीन कुमार सिंह ने कहा कि
इस पूरे मामले में जाँच कर कार्रवाई की जाएगी।