अतिक्रमण हटाओ के नाम पर फिर छोटे व्यापारियों को किया गया परेशान

294

श्रीनिवास सिंह ‘मोनू सिंह’ । अतिक्रमण हटाओ के नाम पर फिर छोटे व्यापारियों को किया गया परेशान बड़े एवं रसूखदार व्यापारियों का नहीं हो सका बाल बांका।

आज लखनऊ के आलम बाग इलाके में नगर निगम का डंडा चला परंतु वही ढाक के तीन पात पुराने रीति रिवाजों को कायम रखते हुए नगर निगम ने सिर्फ रेहड़ी पटरी दुकानदारों एवं जो कमजोर तबके के लोग छोटी मोटी दुकान लगाकर अपनी जीविका का किसी प्रकार से प्रबंध कर रहे थे उन्हीं को शासन का रौब दिखाकर अतिक्रमण के नाम पर हटा दिया गया। परंतु उक्त इलाके में जिन बड़े व्यापारियों से सबसे अधिक अतिक्रमण होता है नगर निगम द्वारा सांठगांठ करके कोई भी कार्यवाही नहीं की गई।

भाजपा की  मोदी और योगी सरकार बनने के बाद  लोगों को लगा था कि  अब आम आदमियों को भी न्याय मिलेगा  कानून सब के लिए समान रूप से प्रभावी होगा परंतु कई बार सरकार के विभागों द्वारा की गई कार्यवाही से सरकार द्वारा किए गए वादों की पोल खुलती  नजर आती है। जैसे कि नगर निगम की  इस कार्यवाही में हुआ। इससे यह साबित होता है कि सभी सरकारों के कानून का रौब सिर्फ छोटे लोगों पर ही होता है । बड़े एवं रसूखदार लोग अपनी पहुंच के कारण उन सभी कानूनों को तोड़ने के बावजूद आसानी से बच निकलते हैं हमेशा उन पर कोई कार्यवाही नहीं होती ।