जम्‍मू-कश्‍मीर में पत्‍थरबाजों की शर्मनाक करतूत, स्‍कूली बस पर किया पथराव

770


जम्‍मू।
जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षाबलों के ऑपरेशन ऑलआउट में हिज्बुल के आतंकी समीर टाइगर की मौत के बाद से घाटी में तनाव का माहौल है।
बंद-प्रदर्शन के बीच पत्थरबाज भी सक्रिय हैं।
शोपियां के कनीपोरा इलाके में पत्थरबाजों ने एक शर्मसार करने वाली घटना को अंजाम देते हुए एक स्कूल बस पर पथराव कर दिया,
जिसमें एक बच्चा घायल हो गया।
बस में 4-5 साल की उम्र के बच्चे भी सवार थे।

सीएम महबूबा मुफ्ती से लेकर पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने इस घटना की निंदा की है।
इस बीच शोपियां के पीडीपी विधायक मोहम्मद यूसुफ बट के घर पर कुछ अज्ञात लोगों द्वारा पेट्रोल बम फेंकने की भी खबर है।

शर्मनाक करतूत

पत्थरबाजी में घायल हुए एक छात्र के पिता ने बताया, ‘मेरा बेटा पत्थरबाजी में जख्मी हो गया, यह इंसानियत के खिलाफ है।
यह किसी भी मासूम के साथ हो सकता है।
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री उमर उब्दुल्ला ने ट्वीट किया बच्चों और पर्यटकों पर पत्थर फेंककर इन पत्थरबाजों का अजेंडा कैसे पूरा हो रहा है?
मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि शोपियां में बच्चों की स्कूल बस पर हमले की खबर सुनकर स्तब्ध हूं और गुस्सा भी आ रहा है।
इस कायरतापूर्ण और असंवेदनशील घटना में इंसाफ किया जाएगा।

DGP ने बताया पागलपन

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस के महानिदेशक एसपी वैद्य ने कहा कि उपद्रवियों ने बस पर पत्थर फेंके,
जिसमें दूसरी कक्षा के बच्चे को चोट लगी है।
उसे इलाज के लिए भेजा गया है।
यह पागलपन है कि पत्थरबाज अब बच्चों को निशाना बना रहे हैं।
इन अपराधियों को कानून का सामना करना पड़ेगा।
शोपियां के एसएसपी शैलेंद्र कुमार ने कहा कि उन्होंने स्कूल बस का घेराव किया और फिर पत्थर फेंके।

DGP जल्द होगी गिरफ्तारी

पत्थरबाजों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
बता दें कि पुलवामा के एक नागरिक की मौत के विरोध में अलगाववादी संगठनों ने बंद का आह्वान किया था।
इसे सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मुहम्मद यासीन मलिक के
नेतृत्व वाले अलगाववादी संगठन जॉइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप की ओर से बुलाया गया था।