कर्नाटक में मोदी की ललकार, हम कर्नाटक में बदलाव की हवा को बेकार नहीं जाने देंगे

325

बेंगलुरु। नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कर्नाटक के चुनाव अभियान की शुरुआत चामराजनगर से की। उन्होंने सीधे राहुल गांधी पर निशाना साधा।
कहा कि वे कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ नाम के हैं, हम तो कामगार हैं।
उनसे काम की अपेक्षा नहीं कर सकते।
वे उडुपी और बेलगावी में भी रैलियां करेंगे।
कर्नाटक चुनाव की तारीख के एलान के बाद से मोदी का ये पहला कर्नाटक दौरा है।
उडुपी की रैली से पहले मोदी का कृष्ण मठ जाने का भी कार्यक्रम है।
मोदी कर्नाटक में 15 से ज्यादा रैलियां करेंगे।
कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए एक चरण में 12 मई को वोटिंग होगी। 15 मई को नतीजे आएंगे।

मोदी ने कर्नाटक की रैली में कहा दिल्ली में कर्नाटक के चुनाव की खबरें आती रहती हैं।
खबरे आती थीं कि कर्नाटक में भाजपा की हवा चल रही है,
लेकिन आज देखकर लग रहा है कि ये हवा नहीं आंधी चल रही है।
हम कर्नाटक में बदलाव की हवा को बेकार नहीं जाने देंगे।

1 मई को गुजरात और कर्नाटक का स्थापना दिवस है।
आज के दिन को मजदूर दिवस भी मनाया जाता है।
मेहनतकश लोगों का दिन है।
उन लोगों ने अपने संकल्प के बल पर देश को कहां पहुंचाया है।
मैं कारीगर और मजदूर भाइयों को आज का दिन समर्पित करना चाहता हूं।

कांग्रेस अध्यक्ष तो सिर्फ नाम के हैं

मोदी ने कहा कांग्रेस अध्यक्ष तो नामदार हैं, उनसे काम की अपेक्षा कर ही नहीं सकते हैं।
अब हमारा सपना है कि हर घर में बिजली पहुंचे।
जो लोग हमें गालियां देते हैं, उन्हें सोचना चाहिए कि क्या कारण है कि
आजादी के बाद से उन घरों में बिजली नहीं पहुंची।
हमने इसका बीड़ा उठाया है।

आज कल कांग्रेस में ऐसे लोग लीडरशिप कर रहे हैं,
जिन्हें वंदेमातरम और देश के गौरव का पता नहीं है।
कांग्रेस अध्यक्ष को देश का ज्ञान नहीं है।

हमसे पहले सोनिया जी की सरकार थी और मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे।
तब 2005 में पीएम ने कहा था कि यूपीए सरकार देश के हर गांव में बिजली पहुंचाएंगे।
कांग्रेस अध्यक्ष तो भरी मीटिंग में मनमोहन जी के फैसले को फाड़ देते हैं।
मनमोहन जी की बात नहीं मानते हो, कम से कम परमपूज्य माता जी की बात तो मानो।

आपकी माता जी मैडम सोनिया जी ने कहा था कि 2009 तक हर घर में बिजली पहुंचाएंगे,
लेकिन 2014 तक आप बैठे रहे। हमारे आने तक कोई काम नहीं किया।
कांग्रेस जवाब दे कि 2014 के पहले 4 साल में कर्नाटक के केवल 2 गांवों में
ही बिजली पहुंची थी और आप हमारा हिसाब मांग रहे हो।

राहुल बिना कागज लिए हुए 15 मिनट बोल लें

मोदी ने कहा, “लोकतंत्र में हम नेता और नागरिकों की बातों को गंभीरता से लिया जाता है।
कांग्रेस अध्यक्ष ने हाल ही में मुझे एक चुनौती।
उन्होंने कहा कि अगर मैं संसद में 15 मिनट भी बोलूंगा तो मोदी जी बैठ नहीं पाएंगे।
वे 15 मिनट बोलेंगे, ये भी एक बड़ी बात है और मैं बैठ नहीं पाऊंगा,
ये सुनकर मुझे अच्छा सीन याद आता है। कांग्रेस अध्यक्ष जी आप नामदार हैं और हम कामदार हैं।
हम तो अच्छे कपड़े भी नहीं पहन सकते हैं, आपके सामने कैसे बैठेंगे।
हम लोगों ने नामदारों के जुल्म झेले हैं और यह ताकत बढ़ाते चले जा रहे हैं।

सिद्धारमैया ने किए ट्वीट

सिद्धारमैया ने ट्वीट कर कहा, “क्या जी जनार्दन रेड्डी आपकी रैलियों में शामिल होंगे?
आप उनके दोस्तों-परिवार वालों को 8 टिकट दे चुके हैं।
ये बीजेपी को 10-15 सीट जिताने में मददगार होगा।
इसके बाद आप भ्रष्टाचार पर भाषण देते हैं।
कृपया पाखंड करना बंद कीजिए।
कर्नाटक के लोग अपने कान में कमल नहीं पहनते।

ये शख्‍स कर रहा था पीएम मोदी को खत्‍म करने की शाजिस, पुलिस ने…

बीएस येदियुरप्पा आपकी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हैं।
मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि आप येदियुरप्पा के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते।
कर्नाटक जानना चाहता है कि क्या येदियुरप्पा अभी भी आपके मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हैं?

एक अन्य ट्वीट में सिद्धारमैया ने योगी आदित्यनाथ पर अपने यौन उत्पीड़न के आरोपी विधायक को बचाने का आरोप लगाया।
वहीं, जम्मू-कश्मीर में भी बीजेपी दुष्कर्म के आरोपियों को बचा रही है।

209 सीटों को कवर करेंगे मोदी

पहली सभा में मोदी चामराजनगर, मैसूर और मांड्या की 22 सीटों को कवर करेंगे।
मोदी, उडुपी और चिक्कोद में सभा को संबोधित करेंगे।
कैंपेन के पहले चरण में वे 48 विधानसभा सीटों को कवर करेंगे।
इसके बाद वे दिल्ली लौट जाएंगे। दूसरे में 47 और तीसरे चरण में 49 विधानसभा सीटों को कवर करेंगे

भाजपा के संभावित शेड्यूल के मुताबिक,
मोदी 3 मई को फिर से कर्नाटक लौटेंगे और कलबुर्गी,
बेल्लारी और बेंगलुरु में सभाएं करेंगे।
यहां वे 47 सीटों को कवर करेंगे।

मोदी के चुनाव प्रचार का तीसरा चरण 5 मई को शुरू होगा।
इसमें मोदी टुमकुर, शिवमोगा और गड़ाग में सभाएं करेंगे। यहां वे 49 सीटों को कवर करेंगे।

चुनाव प्रचार के अंतिम चरण में मोदी 7 मई को रायचूर,
चित्रदुर्ग, कोलार और 8 मई को विजयवाड़ा, मैंगलुरु में सभाएं करेंगे।
इन दो दिनों में वे 65 सीटों को कवर करेंगे।