हरौनी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की सूचना में लापरवाही बरतने से भगदड़ से एक यात्री की मौत

852

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में रेलवे की बड़ी लापरवाही सामने आई है।
यहां कानपुर-लखनऊ रेल मार्ग पर स्थित हरौनी रेलवे स्टेशन बंथरा पर एक पैसेंजर ट्रेन के आने की गलत सूचना से यात्रियों में भगदड़ मच गई।
भगदड़ में ट्रेन की चपेट में आने से दो दैनिक यात्रियों की दर्दनाक मौत हो गई।
घटना से मौके पर हड़कंप मच गया।
गुस्साए यात्रियों ने रेल मार्ग बाधित कर दिया।
घटना की सूचना मिलते ही हरौनी रेलवे स्टेशन पर जीआरपी RPF के जवान मौके पर पहुंचे।
लेकिन घंटो बाद तक रेलवे का कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा।

यह भी पढें:- बंथरा पुलिस की कार्यशैली से अपराधियों के हौसले बुलंद

गुस्साए लोगों ने रेलवे ट्रैक पर रेलवे पटरी डालकर रेल मार्ग बाधित कर दिया।
जिसके चलते कई ट्रेनों को अमौसी और उन्नाव में रोक लिया गया।
पुष्पक एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनें घंटों लेट रही। इस घटना के बाद प्लेटफार्म और स्टेशन पर यात्रियों ने जमकर हंगामा काटा।
यात्रियों ने नारेबाजी कर दोषी रेल कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है।
फिलहालहाल डीआरएम से इस बात में जब बात की गई तो वह अपना पल्ला झड़ते नजर आये।
रेलवे अधिकारी बयान देने से बचकर मीडिया के कैमरे के आने से दूर भाग रहे थे।
अब देखने वाली बात ये होगी की रेलवे प्रशासन क्या दोषियों पर कोई कार्रवाई करेगा।

सोमवार सुबह रेलवे ने लापरवाही दिखाते हुए मेमो पैसेंजर 64206 को गलत प्लेटफार्म पर भेजा दिया। यात्रियों ने बताया कि पहले ट्रेन के आने की सूचना प्लेटफार्म नंबर 3 पर थी लेकिन इसे अचानक ट्रेन के आने पर 4 नंबर प्लेटफार्म पर भेज दिया गया।
ट्रेन के पहुँचते ही स्टेशन पर मौजूद दैनिक यात्री और मजदूरों में बैठने के लिए भगदड़ मच गई।
भगदड़ के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से दो युवकों की मौत हो गई, जबकि कई के घायल होने की सूचना है।

रेलवे मार्ग बाधित कर किया हंगामा

यात्रियों की मौत से गुस्साए साथियों ने रेलवे ट्रैक पर पटरी डालकर रेलवे मार्ग अवरुद्ध कर दिया।
यात्रियों ने रेलवे ट्रैक और स्टेशन को घेर लिया और नारेबाजी कर हंगामा काटने लगे।
इसकी सूचना मिलते ही आरपीएफ और जीआरपी के साथ स्थानीय बंथरा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और प्रदर्शनकरियों को काबू में करके रेल मार्ग शुरू कराने में जुटी रही।
पुलिस बल ने यात्रियों को लाठी फटकार कर खदेड़ा और मृतकों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

स्टेशन मास्टर से गुस्साए लोगों ने की हाथापाई

यात्रियों की मौत के बाद उनके साथियों में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा था।
आक्रोशित लोग ट्रेन में आग लगाने की लगातार धमकी दे रहे थे।
हंगामे के चलते दर्जन भर एक्सप्रेस ट्रेनों और पैसेंजर ट्रेनों को अमौसी और उन्नाव में रोकना पड़ा।
इसके चलते ट्रेने घंटों लेट हो गईं और हजारों यात्री गर्मी में परेशानी झेलते रहे।
शुक्लागंज स्टेशन पर पुष्पक एक्सपेक्स खड़ी रही।

रेलवे स्टेशन पर यात्रियों ने हंगामे के चलते अप लाइन पर यात्रियों ने बेड़ी पटरियां डाल दी।
वहीं कुछ लोगों ने स्टेशन मास्टर से हाथापाई भी की।
फिलहाल घंटों चले हंगामे के बाद अफसरों की नींद टूटी और वह कार्रवाई का आश्वासन देकर चलते बने। पुलिस मृतकों और घायलों के नाम पता लगाने में जुटी थी।