SC/ST  एक्‍ट में बदलाव पर पूरे देश में मचा हाहाकार, हिंसक हुआ भारत बंद

0
1160

नई दिल्ली। एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ दलित संगठन आज देशभर में प्रदर्शन कर रह हैं।
भारत बंद के आह्वान पर देश के अलग-अलग शहरों में दलित संगठन और उनके समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं।
कई जगह ट्रेनें रोकी गई हैं।
इसके अलावा कुछ शहरों में झड़प की घटनाएं भी सामने आई हैं।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एससी/एसटी एक्ट में कई बदलाव हुए थे।
केंद्र सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि अदालत में इस मामले पर मजबूती से पक्ष नहीं रखा गया।
हालांकि,सरकार अब इस मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करने जा रही है।

DZwKXldWAAA4K_p

मेरठ में दिल्ली-देहरादून हाइवे पूरी तरह से बंद हो गया है। इसके अलावा 2 बसों को भी आग के हवाले कर दिया गया है।

दलित प्रदर्शनकारियों ने मेरठ में कंकरखेड़ा थाने की शोभापुर पुलिस चौकी को फूंक दिया है।
इसके अलावा कई वाहनों में भी आग लगाई गई है।

बिहार के हाजीपुर में बंद समर्थको ने कोचिंग संस्थान पर हमला किया।
इस दौरान कोचिंग संचालकों और बंद समर्थकों के बीच पथराव और मारपीट भी हुई।
बंद समर्थकों ने छात्रों की साइकिल और डेस्क बेंच में आग लगा दी।
जिसके बाद मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे।

राजस्थान के भरतपुर में महिलाएं लाठियां लेकर सड़कों पर उतरीं और जाम लगा दिया।
वहीं बाड़मेर में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प भी देखने को मिली।
जिसमें पुलिस समेत करीब 25 लोग घायल हो गए।
पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया।

साउथ दिल्ली के प्रहलादपुर इलाके में भी दलित संगठनों का विरोध प्रदर्शन देखने को मिला है। दलित समर्थकों ने दुकानें बंद कर प्रदर्शन किया।

पंजाब के पटियाला में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी।
इस दौरान बड़ी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रहीं।

बिहार के अररिया, सुपौल, मधुबनी, दरभंगा, जहानाबाद और आरा में भीम सेना के रेल रोकी और सड़कों पर जाम लगा दिया।

DZwTijfXkAANKv7

ओडिशा के संभलपुर में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक दी हैं।

पंजाब के अमृतसर में सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है और भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात है।

इस बंद का आह्वान दलित संगठन संविधान बचाओ संघर्ष समिति ने किया था।
जिसके बाद दूसरे संगठन भी इसमें शामिल हो गए।

इंटरनेट सेवा बंद

पंजाब में बंद का व्यापक असर नजर आ रहा है।
पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि सोशल मीडिया पर अफवाहें
फैलाने वालों पर लगाम लगाने के मद्देनजर आज (रविवार) शाम पांच बजे से कल रात 11 बजे तक राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहेंगी।

केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को लेकर आज पुनर याचिका दाखिल करेगी केंद्रीय विधि मंत्रालय ने अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने की मंजूरी दे दी है।

सरकार इस मामले में कोई स्टैंड न ले पाने के आरोप लगे थे
इस फैसले के बाद विभिन्न पार्टियों के दलित नेताओं ने पीएम मोदी से मुलाकात की थी।
पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने एससी एसटी एक्ट दुरुपयोग पर
चिंता व्यक्त करते हुए इसके तहत दर्ज मामलों में तत्काल
गिरफ्तारी न किए जाने का आदेश दिया था।

कोर्ट ने कहा था कि पहले इन मामलों में जांच की जाएगी सुप्रीम कोर्ट ने
इस एक्ट के तहत दर्ज होने वाले मामलों में अग्रिम जमानत का प्रावधान भी स्वीकार कर लिया था,
इसके बाद इस मामले में सरकार की तरफ से पुनर्विचार याचिका दायर न
किए जाने को लेकर कांग्रेस समेत सभी दलों ने सरकार की भारी आलोचना की थी।
कोर्ट के फैसले को लेकर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की अगुवाई में
दलित समुदाय के मंत्रियों और सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी।